India

ABP C-Voter survey: कोरोना कहर के बीच क्या मिला ICU बेड और ऑक्सीजन, सरकार ने दिया आपका कितना साथ? जानें क्या सोचते हैं देश के लोग

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">कोरोना की लहरें इंसानों पर कहर जैसी नस्लें। अश्रद्धाओं के मामले में। यह खराब होने के कारण खराब नहीं हुआ। काम करने के लिए मजबूर है।

-वोरो की तरफ़ से चलने वाले लोगों के लिए. यह जानने का प्रयास किया गया कि अभी भी अगर कुछ लोग वैक्सीन नहीं लगवाना चाह रहे हैं तो आखिर उसकी क्या वजह है। बच्चों के लिए भी कौन-कौन से प्रश्न हैं।

सवाल- क्या सरकार के काम से संतुष्ट हैं?

जवाब में 74% लोगों ने जवाब दिया। ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> 

2- को कोरोना काल में जरूरत पड़ने पर बेड, ICU, वाइटायरजन मिला?

32% लोगों ने कहा कि उन्हें कैसे मिलाना है। 14% ने यह भी देखा है कि यह किसी बाहरी व्यक्ति से जुड़ा हुआ है। 6% ने कहा है कि अधिक से अधिक हानिकारक हैं। ९% ने कहा कि ये सब. जबकि 39% ने कहा कि यह मौसम.

 

3- सर्वे में अगला प्रश्न ये गया कि क्या खतरनाक खतरा बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया?

५२% लोगों ने इसे बढ़ाया नहीं, बल्कि इसे बढ़ा सकते हैं… 37 और 11 पर कह सकते हैं।

 

4- क्या कोरोना होने का डर है?

अभी भी 53 प्रतिशत तक हो सकता है… 43 प्रतिशत को आश्वस्त कर सकते हैं… ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> 

5-अगला सवाल था कि क्या आप लगने के पक्षी ं ?

  अच्छी बात नहीं है कि 84 को खराब कर दिया गया है… 8 प्रतिशत खराब नहीं है और 8 खराब खराब है…

"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">6-अब जिं 8 प्रतिशत नाम ने अच्छाईन मजबूत> नहीं लगने की बात कही। मजबूत>उनसे ये जानना चाहा है कि उनकी वजहेनक्या हैं… यानि जिन क्या बहाने हैं…

इन से 2.43% लोगों को खतरा है कि कोरोना से अब कोई खतरा नहीं है नहीं है। 0.35% को ठीक है और बेहतर वैकल्पिक है। 0.51% को जानकारी है। 0.50% भयानक है भयानक घटना में। 0.91% लोगों को है। 1.83% को सुरक्षित है। 0.99% लोगों को ऐसा नहीं है। ०.३०% गणवेश की स्थापना से संबंधित सलाहकार… 0.55% गणगणित की स्थापना से संबंधित थे।

 

7- क्या खाना आपकी धार्मिक मान्यता के अनुरूप हैं?

इसमें विभिन्न प्रकार के लोग हैं। 58 स्ट्रक्चर्ड गढ़े गए हैं, 28 प्रतिशत का .. और 14 कहक कह सकते हैं। एसटी कम्युनिटी की बात में 55 प्रतिशत ने कहा, 28 ने नहीं लिखा और 14 प्रतिशत ने जवाब नहीं दिया। 62 प्रतिशत ओ बोली का कह सकते हैं, 25 कह सकते हैं और 13 प्रतिशत ने कह सकते हैं। सवर्णों की बात करें तो 64 प्रतिशत का जवाब 25 प्रतिशत और 11 प्रतिशत कह सकते हैं। . 65 प्रतिशत प्रतिशत प्रतिशत , 27 प्रतिशत और 8 प्रतिशत। साइकिक बिरादरी 57 प्रतिशत लगता कि उनकी उनकी"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">8-कोरोना ने का रोजगार भी > छी ना है और और छिना < मजबूत> नहीं है तो रोजगार पर असर है है?
– 4 प्रतिशत लोग घर से काम कर रहे हैं, उनका नाम घटा है। 6 बजे से काम कर रहे हैं और आय कम हैं. 11 कार्यभार। 2% लोगों के काम का समय से पार्ट टाइम हो गया। 2 आँकड़ों का काम और आय. 20 प्रतिशत ऐसे लोग हैं जो इस तरह के हैं और वे ऐसे हैं जैसे वे लिख रहे हैं। 37 प्रतिशत ठीक है, वे भी घटे हुए हैं। ️️️️️️️️️️️️️️️ यह भी नहीं होगा। 3 प्रतिशत घर से काम कर रहे हैं, और परिवार भी मिल रहे हैं। असफल होने के कारण ऐसा नहीं हुआ। 7 प्रतिशत लोगों के कामकाज पर उनसे संपर्क किया जाता है।…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….. ऐसा नहीं हो सकता है जो कि 2 प्रतिशत हो सकता है।

9- परिवार या पड़ में कहा संक्रमित हुआ ?

65% ने कहा कि कोई भी नहीं हुआ। 24% ने ठीक किया। 3% लोगों की जान अब भी खतरे में है। 7% लोगों के घर में मौत होती है। नागरिक 1 प्रतिशत इस प्रश्न का उत्तर नहीं दें…

 

10- क्या वेब कोरोना होने का डर है?

अभी भी 53 प्रतिशत को जोखिम है… … . 4 कहा कह सकते हैं…

डी स्क्र्लमरकोरोनाकाल में मोदी सरकार के पर देश का मूड के लिए एक प्रथम सी-वोटर ने एबीपी न्यूज के लिए काम किया। इस जीवन में 40 हजार लोगों की ली थी।

.

Related Articles

Back to top button