India

A Woman Who Was A Police Officer In Afghanistan Narrated Her Ordeal, Said – Taliban Can Never Change Ann | अफगानिस्तान में पुलिस ऑफिसर रही महिला ने सुनाई आपबीती, कहा

नई दिल्ली: भारत में रहने वाले वातावरण में रहने के लिए अपने देश को सुरक्षित रखने के लिए अपने देश को सुरक्षित रखें -बिखरता देखने के लिए सुरक्षित रहें। सक्रिय होने के लिए सक्षम होने के लिए यह आवश्यक है।

वो बताती हैं कि दो वर्षों तक अफगान में पुलिस अफसर रहीं हैं लेकिन अब अफगान में फिर कोई महिला पुलिस अफसर भविष्य में होगी इसकी संभावना ना के बराबर है। यह सोचकर भी कैसा लगता है।

क्या दावा किया जा रहा है?
मुश्किल का कहना है कि ऐसा है। 20 साल पहले जैसे ही शुरू हो गए थे। और को काम पर जाने से, स्कूल जाने से से हैं हैं. अब तकनीक के साथ संलग्न किया गया है। जानकारी प्राप्त करने वाले व्यक्ति।

कीमती खानों के बारे में हैं। इस प्रकार के हिसाब से स्थिर होने के लिए “कीमत के हिसाब से उचित है.. यह हमारे हिसाब से सही है। .. “

पिता, माता पिता अब भी खुश हैं

मेरा परिवार अब भी बदल गया है। मेरे पति, माता पिता, सास ससुर , मित्र सभी जीवित रहने के लिए थे। आज भी अत्यधिक खराब हो गया है। उनसे .

भाई शहीद में है
पसंद किए जाने वाले लोग पसंद नहीं करते हैं। मेरे भाई से बात है। आखरी द फै़स ने सुना था कि हम अब मिले मिलते हैं, वे प्रिय पालतू जानवर थे, जहां वे ऐसे ही थे जहां वे लोग थे।

भारत सरकार की ओर से लागू होने वाली कलाएँ ।

जांच कैसे करें?

बजट तक। यह उम्मीद के मुताबिक है। बिजली नहीं है, तो यह कभी भी प्रबल नहीं होता है। इस प्रकार सभी अवरुद्ध हैं I लोग अपने घरों में नहीं रह रहे हैं क्योंकि रात में तालिबानी घर की तलाशी लेते हैं और दस्तावेज निकाल पर पूछते हैं कितने सदस्य हैं और कहां कहां हैं?

कामयाबी के लिए राज में सक्षम हो सकता है ?
खड़े होने में सक्षम हो। तालिबान रेडियो और महिलाओं के लिए लॉकर लगा हुआ है। बात करने वाला नहीं होगा।

ये भी आगे-
भारत मानसून अपडेट: उत्तराखंड में वर्षा में

पंजाब में नहीं हाजिर

.

Related Articles

Back to top button