Panchaang Puraan

6th navratri shardiya navratri 2021 6th day maa katyayani puja vidhi mantra bhog aarti lyrics in hindi – Astrology in Hindi – 6th Navratri : कल होगी मां कात्यायनी की अराधना, नोट कर लें पूजा

छठा नवरात्र : कल पर्व है। माता-पिता की देखभाल-आपूर्ति के लिए आवश्यक है। माता का छत्ता माता कात्यायनी का है। शुभ-निशुभ महव का वध माता ने ही। कात्यायन राजकुमार की पत्नी का नाम कात्यायनी था। मां को महिषासुरनी भी कहा जाता है। माँ कात्यायनी महिषासुर, शंख और निशुब का ध्‍वध करने वाला कार्य करने वाला था। माँ कात्यायनी की पूजा राम और श्रीकृष्ण ने भी की थी। माता माता कात्यायनी की पूजा- विधि, मंत्र, आरती और भोग…

पूजा-विधि-

  • साफ-सुथरे कपड़े पहन कर लें।
  • मां की प्रतिमा को शुद्ध जल या गंगाजल से स्नान कराएं।
  • को रंग के संबंध में
  • जन्मदिन को मनाने के लिए।
  • मां कोरोली कुमकुमीद।
  • माँ कोपाँच के फल और मिष्ठान का भोग भोग।
  • मां कात्यायनी को शहद का भोग अवश्य लगाएं।
  • माँ कात्यायनी का अधिक से अधिक ध्यान दें।
  • माँ की आरती भी।

मंगल के दिन सूर्य की किरणें इन राशियों का भाग्य, ज्ञान से मीन मीन राशि तक का हाल, पढ़ें 11 अक्टूबर का राशिफल

माँ कात्यायनी मंत्र

या देवी सर्वभूतेषु माँ कात्यायनी रूपेणेंथिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:॥

  • मां कात्यायनी की आरती-

जय जय अम्बे जय कात्यायनी

जय जगमाता जग शब्द

बेजनाथ स्थान

वह वरदाती नामधर:

यह जगह भी सुखधाम है

हर मंदिर में ज्योत लगाना

योगेश्वरी महिमा न्यारी

हर त्योहार

मंदिर में भगत हर

कटनी काया की

कातिला मोह माया की

मोह से छुडाने की विशेषता

नाम जपाने वाली

बृहस्पतिवार को पूजा

ध्यान कात्यायनी का धर्म

हर संकट दूर

भंवर

जो भी मां को ‘चमन’स्वामी

कात्यायनी सब अडच निवारे।।

.

Related Articles

Back to top button