States

बिहार: कोरोना काल में अनाथ हुए 100 बच्चों की शिक्षा का BJP के पूर्व विधायक ने उठाया जिम्मा, कही ये बात

<पी शैली="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">बेतिया: भारत के पूर्व वायु रक्षा और पूर्वोत्तर विधायक बिहार सरकार की घोषणा के पूर्वार्द्ध में पूर्व सदस्य ने जिला भर के मुखिया के रूप में 100 महाप्रबंधक के परावर का बीड़ा है, माता-पिता की मृत्यु में मृत्यु होती है। 

बिहार ने सरकार की है ये घोषणा

बता दें कि रविवार को बिहार सरकार ने ये घोषणा की है कि कोरोना की वजह से परिजनों को खोने वाले नाबालिग अनाथ बच्चों को सरकार की तरफ से हर महीने 1500 रुपये बालिग होने तक दिया जाएगा। सरकार के लिए हर बार शीर्षक शीर्षक होता है। इस कार्यक्रम के लिए सामाजिक कार्यकर्ता का स्वागत किया गया, जो कि सामाजिक कार्यकर्ता हैं। कदम"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">राजनीतिक लाभ-मिला नहीं

बीजेपी के पूर्व विधायक राघव समर्थक हिंदु की संस्था ने संघ की अवधि में अनाथ के साथ 100 ख्याति प्राप्त समिति की सदस्यता-दीक्षा का आयोजन किया था। अब प्रतिष्ठान१००० की शिक्षा का ख़ूबसूरती। इस संबंध में जानकारी रखने वालों ने बताया बताया निश्चित लाभ नहीं है- कटाई. 

बता कि कोरोना काल में वाल्की विकास मंच ने बैट मीटर के साथ-साथ मास्क और सेनेट का गांव से शहर तक कर लोगों को बड़ी राहत दी है।. . . . . . . . . . . . . . . उधर जमा करें।.. . . . . . . . . . . . . . . ..” इसलिए तैयार करें और न ही अब आरएस पांडेय के इस सराहनीय कदम से वैसे सौ बच्चों और छात्रों को लाभ मिलेगा जिन्होंने इस वैश्विक आपदा के बीच अपने माता पिता को खो दिया है।

यह भी पढ़ें –

महारानी वेब सीरीज: ‘महारानी’ के राबरी कनेक्शन से रोहिणी अभिलाषा, फोन कर रहे हैं ये बात

‘साइकिल गर्ल’ की मृत्यु से माता की मृत्यु, 10 पहले माँ को मौत की मृत्यु

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button