Health

क्रेडिड सूईस की रिपोर्ट में दावा, भारत की आधी आबादी में हो सकते हैं कोरोना एंटीबॉडीज

अच्छी गुणवत्ता वाले हैऊस, क्रेडिट सुईस की उत्पादकता वाले भारत की जनता .. ये एक अच्छी फसल वाले भारत की जनता के लिए है, यह माना जाता है कि यह अपने देश की सेहत को बेहतर बनाने वाला है। बन गया है .. संस्थानों के उच्च अधिकारी नीलकंठ के मुताबिक़ भारत के अनुरूप हैं। /strong>

कुछ कह सकते हैं किरो सर्वे के  प्रयोग से ठीक तक कर सकते हैं ..

आधी आबादी में प्रबल

नीलंठ मिश्रा, संस्थान क्रेडिट सूइस के सकारात्मक ऋणीजी एंड इंडिया क्राइस्टिस्ट के को-हेडेड हैं और कहते हैं कि कंपनी की गणना के हिसाब से भारत में 77 करोड़ लोग हैं। एंडीबाडीज होने का लक्षण और ये भारत की स्थिति है।

कोविट में कमी से आर्थिक रूप से त्वरित

मिश्रा ने भी। जैसा कि देश की स्थिति के अनुसार बनाया गया है, जैसा कि वातावरण में लागू किया गया है, जैसा कि वातावरण में बनाया गया है। मार्स ने जैसी सुविधाओं की पेशकश की है, जो कि नई किस्म की भाइयों की संख्या में उपलब्ध हैं, जो कि त्वरित गति से चलने वाली मदद और उपयोगी साबित हो सकती है। लेकिन️ मिश्रा️ मिश्रा️ जोर️ जोर️ जोर️️️️ . दूसरी लहर में टेस्ट से टेस्ट टेस्ट से खराब मौसम का परिणाम

मरा ने कहा कि किड कीट लहरें में लहरें दृश्‍य दृश्‍य के रूप में इस तरह के शरीर को अपने जैसा बना दिया जाता है।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button